eBIZ.com Pvt Ltd in Hindi : ईबिज़ डॉट कॉम प्राइवेट लिमिटेड

नमस्कार, मैं गुलशन कुमार. भारत में नेटवर्क मार्केटिंग का जाल जिस तरीके से लगातार फैलता जा रहा है, यह हमारे युवाओं के भविष्य के लिए एक बहुत ही चिंता का विषय है. अक्सर कॉलेज जाने वाले बच्चे, ‘कम उम्र में तुरंत अमीर बनने’ के लालच में आकर वह अपना कीमती समय को खो देते हैं. जिनसे उनका काफी नुकसान होता है.

अपने 4 साल के अनुभव के आधार पर, मैं आज आपको ईबिज़ के बारे में कुछ जानकारी देने जा रहा हूँ. आज मैं आपको वो सच्चाई बताने जा रहा हूँ जिससे जानकर आपके आँखें खुल जाएँगी. अगर आप हाल-फ़िलहाल में ईबिज़ का प्रेजेंटेशन को अटेंड किये हैं, तो आप इस लेख को बिलकुल ध्यान से पढ़ें. मैं लगातार इस लेख को नए-नए जानकारी से साथ अपडेट करता रहता हूँ. आप अपने सुविधा के लिए इस पेज बुकमार्क भी कर सकते हैं.

ईबिज़ क्या है?

इबिज़ डॉट कॉम प्राइवेट लिमिटेड एक नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी है. इसका जन्म 7 जून 2001 को हुआ. पिछले 15 साल से ये कंपनी भारत के कई राज्यों चल रही है. इसका मुख्य कार्यालय नोएडा के बी 18, सेक्टर-63 में है. वे बताते हैं कि ये कंपनी भारत की शीर्ष नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी है. इस बात का फ़िलहाल कोई ठोस सबूत या किसी प्रसिद्ध वेबसाइट पे जिक्र नहीं है.

ईबिज़ का कारोबार ज्यादातर की भारत के इन 12 शहरों में चल रहा है- मुंबई, इंदौर, कोलकाता, हैदराबाद, बंगलोर, नई दिल्ली, पुणे , पटना, भोपाल, भुवनेश्वर, सूरत और लखनऊ. जो लोग इस कंपनी में काम करते हैं उन्हें ईबिज़र कहा जाता है.

इस कंपनी के आदर्श वाक्य – उचित मूल्य पर सभी उम्र के लिए कंप्यूटर साक्षरता, और नेटवर्क विपणन / एमएलएम व्यापार के जरिये जीवन में सफलता प्राप्त करने का अवसर प्रदान करना है। 2001 में, eBIZ सिर्फ 100 परिवार से शुरू किया गया था । आज तक इस कंपनी के 45 लाख सहयोगियों की है , और इसके कारोबार से अधिक 1000 करोड़ है. [प्रशस्ति पत्र की जरूरत]। आज, आप ईबिज़ डॉट कॉम प्राइवेट लिमिटेड के ईबिज़र के जीवन शैली में बदलाव को  महसूस कर सकते हैं. इस कंपनी में ज्वाइन करने के लिए इसके एजुकेशनल पैकेज को Rs. 12,979 के डिमांड ड्राफ्ट से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होता है. जब कोई व्यक्ति उत्पाद को खरीदता है, वह उपयोगकर्ता नाम, पासवर्ड , TID साथ eBIZ प्रोफ़ाइल वगैरह मिलता है.

Also read: 6 Very Good Reasons: A student should never fall in the trap of any MLM

डॉ पवन मल्हान कौन हैं?

dr pawan malhanइबिज़ डॉट कॉम प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निर्देशक डॉ पवन मल्हान हैं. वे एक ईमानदार, दयालु और महान आदमी हैं. आज उनके मार्ग-दर्शन से लाखों लोगो की जिंदगी में काफी सकारात्मक परिणाम आयें हैं. उनसे मिलना, बात करना हर किसी का एक सपना होता है. मेरी बात उनसे जब-जब हुई मानो उनकी बात मेरे को दिल को छु गया हो…

एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा की – 1996 से वे नेटवर्क मार्केटिंग इंडस्ट्री में आये, और 2001 में उन्होंने भारत में ईबिज़.कॉम प्राइवेट लिमिटेड को लाये. इस कंप्यूटर का मोटो दुनिया भर में लोगों को कंप्यूटर साक्षर और आत्म -निर्भर बनाना है. यह कंपनी सौ परिवार शुरू हुआ था, और अब तक इसमें 45 लाख से ज्यादा लोग ज्वाइन कर चुके हैं.

2010/11/10: श्री पवन कुमार मल्हान (Pawan Kumar Malhan) को एक पीएच.डी. विद्वान के रूप में सम्मानित किया गया। स्रोत: जामिया मिलिया इस्लामिया केंद्रीय विश्वविद्यालय साइट.

तो चलिए सबसे पहले जानते हैं इस कंपनी के दोनों मोटो के बारे में.

कंप्यूटर कोर्स

ईबिज़.कॉम प्राइवेट लिमिटेड के जो ज्वाइन किये हुए एसोसिएट हैं, वे लगातार कंप्यूटर जागरूकता कैम्प लगा कर लोगो को कंप्यूटर जानकारी के महत्व को समझा रहे हैं. जो कंप्यूटर कोर्स ईबिज़ के माध्यम से मिलता है वह हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में उपलब्ध है. मुझे भारतीय होने पर गर्व हो, और यह बताते हुए मुझे खुशी हो रही है की, यह पहली ऐसी कंपनी है जो हमारी मातृभाषा हिंदी में कंप्यूटर का ज्ञान लोगो तक पहुंचा रही है.

यहाँ से कंप्यूटर सीखने का मेरा अनुभव : इसके कोर्स ऑडियो-विजुअल होने के कारण मुझे काफी रोमांचक लगा. यहाँ से मैंने HTML को बहुत ही अच्छे ढंग से सिखा. इस बात का मुझे बेहद ख़ुशी है.


हाँ, एक चीज़ मैं ज़रुर कहना चाहूँगा, की आप शायद यहाँ से अच्छी सुरुवात तो कर सकते हैं, लेकिन आप एक कंप्यूटर एक्सपर्ट कभी नहीं बन सकते हैं. कुछ कोर्स मुझे पुराने और अधूरा-अधूरा सा मह्सुश हुआ. जो 65 कोर्सेज होने के बावजूद भी मुझे थोड़ा सा निराश किया. जितना मैंने ज्वाइन करने से पहले उम्मीद किया था, मुझे उतना अच्छा नहीं लगा. खैर, मैं जो भी कुछ सिख पाया, इसके लिए ईबिज़ के प्रति मैं अपनी आभार व्यक्त करता हूँ.

बिज़नेस प्लान

मैं समझता हूँ की असल जिंदगी में सफलता तभी है, जब आपके पास अच्छे विचार हो, आप सुखी-संपन्न हो, और आपको अपनी सफलता का लुप्त उठाने के लिए पर्याप्त समय भी हो. तो चलिए देखते हैं, ईबिज़ का बिजनेस कैसा है-
ebiz-business-plan

यहाँ पे, यह बिज़नस वैकल्पिक माना जाता है. अगर कोई इंसान इस कंपनी के कोई भी प्रोडक्ट खरीद कर ज्वाइन करता है, तो वो वह इस बिज़नेस को करने या ना करने का फैसला उसके ऊपर निर्भर करता है.

ईबिज़ डॉट कॉम प्राइवेट लिमिटेड एक नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के तरह काम करती है. यहाँ पे पहले आप जुड़ते हैं, और भी लोगो को आप जोड़ते हैं, और अपना नेटवर्क बढ़ाते चलते हैं.

कृपया ध्यान रखें की ईबिज़ के नियम व शर्तें आपको अच्छी तरह पता हो, अगर आप इन्हें पालन कर सकते हों, तभी इसके बारे में सोचे, अथवा यह आपके लिए महज एक टाइम पास भी हो सकता है.

  • अगर कोई भी इंसान ईबिज़ को ज्वाइन करता है तो उससे अपने दम पे करी मेहनत और लगन के साथ काम करना होगा.
  • इस बिज़नस में आगे बढ़ने के लिए आपको खुद से 2 लोगो तक इस बिज़नेस को पहुँचाने होंगे.
    अब आप मुझसे पूछेंगे? सर, अगर मैं ईबिज़ को 2 लोगो तक पहुंचा दूं, या एक लाख लोगो तक पहुंचा दूँ, तो क्या मेरा काम हमेशा के लिए ख़त्म हो जायेगा, और क्या पैसे आते रहेंगे? – बिलकुल नहीं सर/मैडम जी, जबतक आपके दोनों हैण्ड में टीम चलेंगे तब तक ही आपको पैसे मिलेंगे. इस बिज़नस में 2:1 औसत (ratio) लगातार बना रहना चाहिए.
  • यहाँ पे ज्वाइन करने के साथ-साथ, आपको हर चीजों को बारीकी से सीखना, बेहद ज़रुरी है. इसके लिए ईबिज़ कंपनी के तरफ से प्रायः हर हफ्ते या महीने जरुरी-मीटिंग में आना अनिवार्य होगा अथवा आपका कमीशन रोक दिया जाएगा. Ref: (LXVIII)
  • जो कंप्यूटर कोर्स – सर्टिफ़िकेट आपको मिलेंगे, वह सिर्फ आपके आत्म संतुष्टि के लिए होंगे. वह किसी भी भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं होंगे. Ref: (xxviii)
  • ईबिज़ का प्रोफाइल हमेशा एक्टिव रखने के लिए, हरेक साल 4,580 रूपये का प्रोफाइल रिन्यूअल करवाना अनिवार्य है. अब यह जरुरी नहीं.
  • आप किसी भी लोग को ज़बरदस्ती ज्वाइन नहीं करा सकते.
  • अगर आपको लगता है की आप ज्वाइन करने बाद संतुष्ट नहीं है, तो आपके अपना पैसा वापस करवा सकते हैं – जानने के लिए कृपया इस वीडियो को देखे या http://www.gulshankumar.net/cancel-ebiz-package-refund-money.
How To Get Refund from eBIZ.com Pvt Ltd (Rs. 12,979)

एक महत्वपूर्ण जानकारी

  • ज्वाइन करने से पहले पूरी सर्ते और नियम के पन्ने को अच्छी तरह ज़रुर पढ़ लें.
  • ऑफ-लाइन फॉर्म के नाम पे पैसा लेना या देना, डिमांड ड्राफ्ट के जगह कैश पेमेंट; ये सब ईबिज़ के नियम के विरुद्ध है. अगर आपको कोई भी इंसान ईबिज़ ज्वाइन करवाने के लिए ‘Loss of Delay’ का बहाना कर अगर हाथो-हाथ एडवांस पैसा जमा करने की बात करे, तो आप समझ ले – वो ईबिज़ कंपनी का असली एसोसिएट नहीं, बल्कि किसी अन्य कंपनी से आया हुआ धोखेबाज़ भी हो सकता है. यह कोई नया मामला नहीं है. इसलिए आप कृपया सतर्क रहे. वैसे कुछ दिन पहले, एक नया NEFT/IMPS का भी माध्यम भी आ गया है. ज्यादा जानकारी के लिए यह वेब पृष्ठ को देखें http://www.ebizel.com/paymentmodes.php

 

ईबिज़ का वैकल्पिक क्या है?

अब मैं आपको उस मिलियन डॉलर सवाल का जवाब बताने जा रहा हूँ, जो कि आपके भाविष्य से ज़ुरा है. जिससे जानना आपके लिए बेहद जरुरी है.

ईबिज़र्स के लिए : इस कंपनी का विकल्प के तौर पे अपने नए प्रतियोगी कैनविज इंफ्रा कॉर्पोरेशन इंडिया (Kanwhizz) को सीमित किया जा सकता है। इसके अलावा Sarsobiz, Dewsoft या Amywayनेटवर्क विपणन कंपनी को इस सूची में हैं. क्योंकि, उनके उत्पाद और द्विआधारी मुआवजा व्यापार की योजना भी ईबिज़ डॉट कॉम प्राइवेट के समान हैं।


मेरे लिए: आज के तारीख में, मुझे लगता है एक डेरी फार्म चलाना ईबिज़ या किसी भी नेटवर्क-मार्केटिंग को प्रमोट करने से 100 गुना बेहतर है.

Jarur padhein – IT करियर छोड़ खड़ा किया डेयरी फार्म उद्योग, 1 करोड़ रुपए का टर्नओवर

Can you make money with Ebiz pvt ltd? The math lies in this video (Ebizel.com)

ईबिज़ के बारे में सबसे लोकप्रिय समाचार

इस कंपनी का नाम इंटरनेट के कई महान प्रामाणिक वेबसाइटों पर चित्रित किया गया है. अच्छी खबर से लेकर बुरी खबर दोनों देखने को मिले हैं. ये आपके आँखें खोलने के लिए समाचार रिपोर्टों के लोकप्रिय उल्लेख की एक सूची है.एबिज़ समाचार

और जानें:
[इस लेख को अंग्रेगी में विस्तृत से पढ़ें ]

[ पैकेज कैंसिल और Rs. 12,979 रूपये रिफंड करवाने का तरीके जानें ]

[ईबिज़ डॉट कॉम प्राइवेट लिमिटेड के सर्ते व नियम जानें ]

[आधिकारिक संपर्क जानकारी]

Get-rich-quick scheme Exposed

"Get Rich Quick Schemes" EXPOSED by Abhishek Mishra | Ebiz

नोट: यहाँ पे दिए गए जानकारी के सत्यता आप खुद जांच करें, किसी भी ग़लती या एक्सटर्नल लिंक्स का ज़िम्मेदारी इस वेबसाइट लेखक की नहीं होगी. मैं ईबिज़ 4 साल पहले ज्वाइन किया था, और आज मैं अपने निजी कारणों से नहीं कर रहा हूँ.

अगर आपके मन में कोई सवाल हो, तो कृपया बेझिझक कमेंट में पूछें. और, अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो कृपया शेयर करना ना भूले. धन्यवाद!

Subscribe our blog via Email
Get instant updates of our new blog post directly at your Mailbox.

78 Comments

  1. Sandeep kumar July 12, 2016 Reply
  2. kc Dhangar July 20, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar July 20, 2016 Reply
  3. soham July 25, 2016 Reply
  4. sima July 29, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar July 29, 2016 Reply
    • Raviprakash maurya September 22, 2016 Reply
      • Gulshan Kumar September 23, 2016
  5. एर्रिक कुमार August 7, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar August 7, 2016 Reply
  6. dinesh kotwad August 7, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar August 7, 2016 Reply
  7. Akshay Thakrar August 7, 2016 Reply
  8. mitu August 8, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar August 8, 2016 Reply
  9. Anup Kamble August 17, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar Gulshan Kumar August 20, 2016 Reply
  10. Mahesh kamar August 24, 2016 Reply
  11. Keyur Radadiya August 28, 2016 Reply
  12. DHANESHWAR DIWAN September 4, 2016 Reply
  13. yash September 5, 2016 Reply
  14. mehboob raza September 11, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar September 11, 2016 Reply
  15. Rohitash September 17, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar September 17, 2016 Reply
  16. Mahendra September 21, 2016 Reply
  17. akhil September 24, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar September 24, 2016 Reply
  18. Akash September 26, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar September 26, 2016 Reply
      • Suraj Mishra September 27, 2016
  19. ankit September 28, 2016 Reply
  20. Chinki thakur September 29, 2016 Reply
    • Chhatra pal December 1, 2016 Reply
  21. kunal September 29, 2016 Reply
  22. RajveerAtal September 29, 2016 Reply
  23. shubham September 30, 2016 Reply
  24. ankit October 5, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar October 5, 2016 Reply
  25. sameer October 10, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar October 11, 2016 Reply
  26. Pawan BHatt October 17, 2016 Reply
  27. RAHUL.YADAV October 21, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar October 21, 2016 Reply
  28. Pankaj October 21, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar October 22, 2016 Reply
  29. Harshad October 24, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar Gulshan Kumar October 24, 2016 Reply
      • Harshad October 25, 2016
  30. Harshad October 25, 2016 Reply
  31. Rakesh Bangada October 31, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar Gulshan Kumar October 31, 2016 Reply
  32. abhay yadav November 1, 2016 Reply
  33. Sohan November 13, 2016 Reply
  34. Simmi November 14, 2016 Reply
  35. Salman November 17, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar Gulshan Kumar November 17, 2016 Reply
  36. Advait November 20, 2016 Reply
  37. Anuj kumar November 24, 2016 Reply
  38. khemsingh choudhary November 26, 2016 Reply
  39. Balaji Babu December 1, 2016 Reply
  40. Vivek raj December 4, 2016 Reply
  41. raj soni December 21, 2016 Reply
  42. deepak December 24, 2016 Reply
    • Gulshan Kumar Gulshan Kumar December 24, 2016 Reply
  43. rishab December 27, 2016 Reply
  44. karam husain January 4, 2017 Reply
  45. prajkata January 8, 2017 Reply
  46. Prashant Prajapati January 8, 2017 Reply
  47. Rahul January 8, 2017 Reply
    • Gulshan Kumar Gulshan Kumar January 8, 2017 Reply
  48. vishal January 16, 2017 Reply
  49. vinayak dubey January 16, 2017 Reply

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

By commenting on this article, you agree to our .